Category of Bare Act Name of the Act Year of Promulgation
Criminal Laws Indian Penal Code 1860
Act Number Enactment Date Chapter Number
45 06.10.1860 16
Chapter Title Sub-Chapter Legislated by
Of Offence Affecting The Human Body - Parliament of India

Whoever kidnaps or abducts any woman with intent that she may be compelled, or knowing it to be likely that she will be compelled, to marry any person against her will, or in order that she may be forced or seduced to illicit intercourse, or knowing it to be likely that she will be forced or seduced to illicit intercourse, shall be punished with imprisonment of either description for a term which may extend to ten years, and shall also be liable to fine; 1 [and whoever, by means of criminal intimidation as defined in this Code or of abuse of authority or any other method of compulsion, induces any woman to go from any place with intent that she may be, or knowing that it is likely that she will be, forced or seduced to illicit intercourse with another person shall also be punishable as aforesaid].

_____________________________

1. Added by Act 20 of 1923, s. 2.

Offence Description Punishment provided Cognizable/Non-Cognizable
Kidnapping to abducting a woman to compel her marriage or to cause her defilement, etc. Imprisonment for 10 years and fine. Cognizable
Bailable/Non-Bailable Trial Court Details Compoundable/Non-Compoundable
Non-Bailable Court of Session. Non-Compoundable
Compoundable by Whom Concerned Ministry Concerned Department
Non-Compoundable Ministry of Home Affairs Department of Internal Security

धारा 366 आईपीसी- विवाह आदि के करने को विवश करने के लिए किसी स्त्री को व्यपहृत करना, अपहृत करना या उत्प्रेरित करना , IPC Section 366

भारतीय दंड संहिता की धारा 366 के अनुसार, जो कोई किसी स्त्री का उसकी इच्छा के विरुद्ध किसी व्यक्ति से विवाह करने के लिए उस स्त्री को विवश करने के आशय से या वह विवश की जाएगी यह सम्भाव्य जानते हुए अथवा अवैध संभोग करने के लिए उस स्त्री को विवश करना या बहकाना या वह स्त्री अवैध संभोग के लिए विवश या बहक जाएगी यह संभाव्य जानते हुए व्यपहरण या अपहरण करेगा, तो उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास की सजा जिसे दस वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, और साथ ही आर्थिक दंड से दंडित किया जाएगा; 
और जो कोई इस संहिता या प्राधिकरण के दुरुपयोग या मजबूर कर किसी भी विधि में परिभाषित आपराधिक धमकियों के माध्यम से किसी स्त्री को किसी अन्य व्यक्ति से अवैध संभोग करने के लिए विवश करने या बहकाने के आशय से या वह स्त्री विवश या बहक जाएगी यह संभाव्य जानते हुए उस स्त्री को किसी स्थान से जाने के लिए उत्प्रेरित करेगा, उसे भी उपरोक्त प्रकार से दण्डित किया जाएगा।

  लागू अपराध
किसी स्त्री को विवाह के लिए विवश करने, अपवित्र करने के लिए व्यपहृत करना, अपहृत करना या उत्प्रेरित करना आदि।
सजा - दस वर्ष कारावास + आर्थिक दंड।

यह एक गैर-जमानती, संज्ञेय अपराध है और सत्र न्यायालय द्वारा विचारणीय है।

यह अपराध समझौता करने योग्य नहीं है।

अपराध सजा संज्ञेय जमानत विचारणीय
किसी महिला को उसकी शादी के लिए मजबूर करने या उसकी अशुद्धि आदि का कारण बनाने के लिए अपहरण या अपहरण करना 10 साल + जुर्माना संज्ञेय गैर जमानतीय सत्र न्यायालय

Contact us

Find us at the office

Trailor- Verkamp street no. 63, 81415 Zagreb, Croatia

Give us a ring

Dezha Manci
+38 695 645 231
Mon - Fri, 8:00-22:00

Reach out